Essay on Holi in Hindi

0

परिचय: होली भारत के प्राचीन त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार मूल रूप से ‘होलिका’ के रूप में मनाया जाता था। होली शब्द का मूल अर्थ  ‘जलना’ है। इस प्राचीन त्योहार के है  पीछे बहुत प्रसिद्ध कहानी है जो हमें बचपन से बताई जाती है।

यह व्यापक रूप से भारत, नेपाल और हिंदू आबादी के साथ अन्य स्थानों में भी  मनाया जाता है। यह वसंत महोत्सव और हिन्दुओं के धार्मिक त्योहारों में से एक है । यह बहुत ही खुशी और  रंगों के साथ  खासकर उत्तर भारत में मनाया जाता है।

होली का  उत्सव फाल्गुन के आखिर में शुरू होता है।

Holi
Holi

होली का इतिहास: पुराने समय की बात है , एक दानव राजा हिरण्यकश्यप  चाहता था की उसके राज्य में सिर्फ उसकी ही पूजा हो। लेकिन उसका अपना  ही पुत्र प्रह्लाद भगवान नारायण का सबसे बढ़े भक्तों में से एक था। किसी  भी शक्ति का बस ना चलता देख राजा  हिरण्यकश्यप ने  अपनी बहन होलिका को उसकी गोद में प्रहलाद के साथ धधकते आग में प्रवेश करने को कहा ।

Also Read : Essay on Holi in English

होलिका के पास वर था की वो अपने शरीर को कोई नुकसान  पहुंचाये बिना आग में प्रवेश कर सकती  था। परन्तु उसे इस बात का ज्ञात नहीं था की यह  वर तभी काम करेगा अगर वो अकेली आग में प्रवेश करती है ।  परिणामसवरूप  वह अपने जीवन उसे अपना जीवन खोना पड़ा और भगवान की कृपा से प्रहलाद अपने चरम भक्ति के लिए  बच गया । इस प्रकार यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत और  भक्ति की विजय के रूप में मनाता है।

Advertisement

8

होली के समारोह का जशन: यह दिन बहुत ही उत्साह और खुशी के साथ शुरू किया जाता है । बच्चे और बढ़े सब मिल कर एक जगह पर सब लकड़ियाँ इकठी करते हैं । रात में सब लोग इकठा हो कर , लकड़ियों के उस ढेर को आग लगाते हैं । ख़ुशी में लोग गाना गाते एंड नाचते हैं।
इसके बाद अगले दिन होली की त्यारियां की जाती हैं। इस खास दिन पर गुझिया, मिठाई, चिप्स, पापड़, हलवा, पानी पुरी, दही बड़े, आदि जैसे विशेष चीजें  पकाई जाती हैं
एक दूसरे पर  रंग फेंकते हैं । लोग बहुत सारी मिठाई और खाद्य पदार्थ के साथ एक दूसरे का स्वागत करते हैं। वे अपने दोस्तों, पड़ोसियों और रिश्तेदारों के साथ  छोटे गुब्बारे के साथ रंगों का खेल शुरू करते हैं । वे एक दूसरे के माथे पे अबीर / कुमकुम लगाते हैं।
कुछ लोग इस दिन नशा करके झगड़ा करते हैं और हानिकारक रंगों का प्रयोग करते हैं जो के सेहत के लिए बहुत हानिकारक होते हैं ।

3

निष्कर्ष: हमें यह याद रखना चाहिए कि होली खुशियों का त्योहार है।  हमें  इस दिन दोस्ती का हाथ बढ़ाना चाहिए  और इस त्योहार की असली भावना को बनाए  रखना  चाहिए।

होली पर अधिक निबंध के लिए हमारे साथ संपर्क में रहें … !!!

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *